नई दिल्ली। लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों के मसीहा बने सोनू सूद आज भी लोगों की मदद के लिए पीछे नहीं हट रहे हैं। कई महीनों बाद भी सोनू आज भी उसी हिम्मत और जोश के साथ लोगों की मदद करने में जुटे हुए हैं। सोशल मीडिया पर आए दिन उनका एक नया अंदाज लोगों का दिल जीत लेता है। कोरोना काल में लाखों लोगों के सपने पूरे करने वाले हीरो ने आज फिर लोगों की आंखों को नम कर दिया। सोनू ने एक छात्रा की मदद कर उसको उसकी जिंदगी वापस दिला दी।

नेहा नाम की एक लड़की ने कुछ समय पहले ट्विटर पर सोनू के लिए एक पोस्ट लिखा था। जिसमें उसने अपनी बहन दिव्या की तबीयत खराब होने का जिक्र करते हुए बताया था कि ‘उन्हें ऑपरेशन की सख्त जरुरत है। उसकी बहन की सर्जरी दिल्ली के एम्स अस्पताल में होने थी। लेकिन लॉकडाउन की वजह से मिली तारीख पर सर्जरी नहीं हो पाई। लड़की ने सोनू से बस यह आग्रह किया था कि वह सर्जरी के लिए बस एक तारीख दिला दें। यह मैसेज पढ़ते ही सोनू ने तुरंत रिप्लाई करते हुए कहा कि “ऑपरेशन के लिए अस्पताल में पूरा इंतजाम करवा दिया गया है। अब वह केवल आपकी ही नहीं बल्कि हमारी भी बहन है”। सोनू की मदद से दिव्या के पेट की सर्जरी ऋषिकेश के एम्स अस्पताल में हुई। जो सफल रही। इस समय भी दिव्या अस्पताल में उनका सर्जरी के बाद का इलाज चल रहा है।

दिव्या की सफल सर्जरी होने के बाद नेहा ने एक वीडियो पोस्ट किया है। जिसमें उन्होंने सोनू सूद और उनकी पूरी टीम का धन्यवाद कहा है। नेहा ने वीडियो में बताया कि वह काफी परेशान थी कि यह सर्जरी हो भी पाएगी या नहीं। लेकिन सोनू सूद की वजह से उनकी बहन की सर्जरी कामयाब रही। नेहा ने बताया कि उनकी बहन दिव्या ने ऑपरेशन थिएटर में जाने से पहले कहा कि सोनू सूद एक जिन्नी हैं। उनसे कुछ भी मांगे झट से मिल जाता है।

नेहा आगे कहती हैं कि उनके परिवार और उनकी बहन के लिए जो सोनू सूद ने किया है। वह हमेशा उसके लिए सोनू सूद ने बीमार छात्रा की सर्जरी करवा कर उसे दी नई जिंदगी, परिवार वाले बोले- ‘पूरी जिंदगी रहेंगे एहसानमंद’ रहेंगे। उनके परिवार वालों उनके चरणों को धोकर पीने के लिए भी तैयार हैं। वहीं इस बुरे दौर में सोनू सूद ने सबको सिखाया है कि कैसे दूसरों की मदद की जाती है।





Source link

Posts You May Love to Read !!

0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *