मुंबई। अभिनेत्री कंगना रनोत ने कहा कि हमें फिल्म उद्योग को विभिन्न प्रकार के आतंकवादियों से बचाने की जरूरत है। उन्होंने ट्वीट में लिखा, ‘हमें विभिन्न आतंकियों से इंडस्ट्री को बचाने की जरूरत है। जैसे, भाई-भतीजावाद आतंकवाद, ड्रग्स माफिया आतंकवाद, लिंगभेद आतंकवाद, धार्मिक और क्षेत्रीय आतंकवाद, विदेशी फिल्मों का आतंकवाद, पाइरेसी आतंकवाद, मजदूरों के शोषण से जुड़ा आतंकवाद, प्रतिभा के शोषण का आतंकवाद।

 

अभिनेत्री ने शनिवार के ट्वीट में लिखा,’लोगों का मानना है कि हिन्दी फिल्म उद्योग भारत की सबसे बड़ा है, जो बिल्कुल गलत है। तेलुगु फिल्म उद्योग ने खुद को शीर्ष स्थान पर पहुंचा दिया है, जिसे भारत में कई भाषाओं में कई फिल्मों को रामोजी राव फिल्म सिटी, हैदराबाद में फिल्माया जा रहा है।’

कंगना ने लिखा, ‘हमें फिल्म उद्योग में कई सुधारों की जरूरत है। सबसे पहले हमें एक बड़े फिल्म उद्योग की जरूरत है, जिसे भारतीय फिल्म उद्योग कहा जाता है। हम कई आधार पर इसे विभाजित करते हैं, जिसका लाभ हॉलीवुड फिल्मों को मिलता है। एक उद्योग, लेकिन कई फिल्म सिटीज।’ कंगना ने कहा कि सर्वश्रेष्ठ डब की गई क्षेत्रीय फिल्मों को पैन इंडिया रिलीज नहीं मिलती है, लेकिन डब की गई हॉलीवुड फिल्मों को मुख्यधारा में रिलीज किया जाता है।





Source link

Posts You May Love to Read !!

0 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *